safalvarta@gmail.com

आपकी बात

देश में छोटे अपराधों पर मिल सकती है ऑनलाइन एफआईआर दर्ज की अनुमति

देश में छोटे अपराधों पर मिल सकती है ऑनलाइन एफआईआर दर्ज की अनुमति

आपकी बात
केंद्र सरकार ने छोटे-मोटे अपराधों में ऑनलाइन एफआइआर दर्ज करने की सुविधा पूरे देश में शुरू करने के लिए अपनी कवायद तेज कर दी है।नवंबर, 2013 के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार अगर शिकायतकर्ता एक संज्ञेय अपराध की जानकारी देता है तो सीआरपीसी की धारा 154 के तहत अनिवार्य रूप से एफआइआर दर्ज करनी होगी। साथ ही ऐसे हालात में कोई प्रारंभिक जांच न करना भी जायज है। विधि आयोग ने अपनी जांच में पाया कि अगर लोगों को ऑनलाइन एफआइआर दर्ज कराने की छूट दी जाती है, तो कुछ लोग दूसरों की छवि बिगाड़ने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। विधि आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जहां लोगों को एफआइआर दर्ज कराने के लिए पुलिस थानों में जाना मुश्किल लगता है। अपने घर में आराम से एफआइआर दर्ज कराना बहुत आसान होगा। ज्यादातर लोगों को पुलिस के सामने झूठ बोलना मुश्किल लगता है।पुलिसकर्मी शिकायतकर्ता के आचरण को समझते हैं। लेकिन
गोवा गोवा जाने की प्लानिंग की है तो एक बार पढ़ लीजिए ये बदले हुए नियम

गोवा गोवा जाने की प्लानिंग की है तो एक बार पढ़ लीजिए ये बदले हुए नियम

आपकी बात
लोगों का सपना गोवा घूमने का होता है। ज्यादातर लोगों के लिए गोवा जाना सपने से कम नहीं होता। ऐसे में गोवा ट्रिप एक ऐसी खास ट्रिप होती है, जिसकी प्लानिंग महीनों पहले शुरू हो जाती है। अगर आपने 15 अगस्त के आसपास गोवा जाने की प्लानिंग की है या जाने की सोच रहे हैं, तो ये खबर आपके लिए है। 15 अगस्त से गोवा में पर्यटकों के लिए कई नियम बदल जाएंगे। आइए, जानते हैं क्या है नए नियम।   गोवा में सार्वजनिक स्थानों पर शराब पीने पर पूरी तरह से बैन की तैयारी हो चुकी है जिसे 15 अगस्त से लागू कर दिया जाएगा। अगर किसी ने नियम तोड़ा तो उसपर भारी जुर्माना लगाया जाएगा। गोवा के दूसरे स्थानों के साथ बीच पर भी बीयर या शराब पीना पूरी तरह प्रतिबंधित होगा। अगर आपको शराब या बीयर पीनी है तो नजदीकी रेस्तरां में जाकर पी सकते हैं। इसके अलावा गोवा के बीच और शहर में प्लास्टिक बैग से गंदगी फैलाने वालों और इसका
ITR भरने के लिए सिर्फ 13 दिन शेष

ITR भरने के लिए सिर्फ 13 दिन शेष

आपकी बात
इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई, 2018 है। ऐसे में सुनिश्चित करें की आपकी ओर से फाइल की गई रिटर्न ठीक है। कई बार करदाता जल्दबाजी में कुछ गलतियां कर देते हैं जिस कारण उनकी कर देनदारी तो प्रभावित होती ही है साथ ही आयकर विभाग की ओर से नोटिस मिलने की संभावना भी बढ़ जाती है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (CBDT) ने ITR फॉर्म्स की संख्या 9 से घटाकर 7 कर दी है। रिटर्न भरते समय अब सभी टैक्सपेयर्स को अपना 12 अंकों का आधार नंबर और 28 अंकों का आधार एनरॉलमेंट नंबर भी भरना जरूरी है।   कितनी पेनल्टी देना होगी 5 लाख रुपए से कम income है तो आपको 1 हजार रुपए की पेनल्टी। 5 लाख रुपए से ज्यादा income है तो 5 हजार रुपए की पेनल्टी। यदि आप 31 दिसंबर तक फाइल नहीं करते हैं तो 10 हजार रुपए की पेनल्टी देना होगी। रिटर्न फाइल करते वक्त न भूलें ये बातें कुछ करदाता नाबालिग बच्चे